अरुणाचल प्रदेश के एक प्रशासनिक क्षेत्र में टीका लगवाने के बदले लगभग 20 किलो चावल देने की योजना गांववालों के बीच टीके को लेकर अफवाहों को दूर करने के मामले में प्रभावी साबित हो रही है। इस योजना की घोषणा के बाद कुछ ही दिन में 80 से अधिक गांववासी टीका लगवा चुके हैं। लोअर सुबनश्री जिले के याजाली के क्षेत्राधिकारी ताशी वांगचुक थोंगडोक द्वारा सोमवार को यह योजना शुरू की गई थी, जो बुधवार तक जारी रहेगी। इसके तहत 45 साल से अधिक आयु के लोगों को टीका लगवाने पर मुफ्त में चावल दिये जा रहे हैं।

एपीसीएस के 2016 बैच के अधिकारी थोंगडोक ने कहा, 'आज दोपहर तक 80 से अधिक लोग टीका लगवा चुके हैं। हमारा लक्ष्य 20 जून तक क्षेत्र के सभी लोगों को टीका लगाना है।' अधिकारियों ने कहा कि यजाली सर्कल में 45 वर्ष से अधिक आयु के 1,399 लोग हैं। थोंगडोंग ने कहा कि इनमें से कई लोग प्रतिकूल मौसम के बावजूद दूर-दराज के गांवों से पैदल चलकर टीका लगवाने आए। उन्होंने कहा कि प्रशासन क्षेत्र के प्रत्येक गांव में टीकाकरण अभियान शुरू करने का रोडमैप तैयार कर रहा है।

अधिकारी ने कहा, 'हम शुक्रवार और शनिवार को घर-घर जाकर 45 साल से अधिक आयु के लोगों को टीका लगाने की योजना बना रहे हैं। हमारी पेशकश जारी रहेगी, लेकिन चावल की मात्रा 20 किलो की जगह 10 किलो कर दी जाएगी।' उन्होंने कहा कि विवेकानंद केंद्र विद्यालय के दो पूर्व छात्रों ने लाभार्थियों के बीच वितरण के लिए चावल दान किये हैं।

अधिकारियों ने कहा कि कोविड-19 टीके को लेकर कई तरह की अफवाहें हैं। इनमें टीका लगवाने के बाद गंभीर बीमारियां होने जैसी अफवाह भी शामिल है। राज्य के टीकाकरण अधिकारी डिमोंग पाडुंग ने कहा कि अब तक राज्य में 3,95,445 लोगों को टीके लगाए जा चुके हैं।