अरुणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री पेमा खांडू ने पड़ोसी देशों के साथ राज्य की व्यापार क्षमता को बढ़ावा देने की आवश्यकता पर जोर दिया है। सीएम पेमा खांडू ने कहा है कि अरुणाचल प्रदेश में "व्यापार के लिए विशाल घरेलू और अंतर्राष्ट्रीय क्षमता" है।

यह भी पढ़े : 25 May Lucky Zodiac Signs: आज की ये हैं 5 लकी राशियां, जानिए कैसा रहेगा बुधवार का दिन


उन्होंने कहा कि पंगसाऊ दर्रा (म्यांमार के साथ) और लुमला ताशीगांग रोड (भूटान के साथ) जैसे कनेक्टिविटी लिंक का उपयोग करके अरुणाचल प्रदेश के व्यापार संबंधों को और बेहतर बनाया जा सकता है। सीएम पेमा खांडू ने कहा, "2047 तक अरुणाचल प्रदेश को अपने पड़ोसियों के साथ 'व्यापार का प्रवेश द्वार' बनाने का हमारा लक्ष्य होना चाहिए।"

अरुणाचल प्रदेश पेमा खांडू मंगलवार को ईटानगर के डीके कन्वेंशन सेंटर में एक दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय क्रेता-विक्रेता मीट (आईबीएसएम) के उद्घाटन सत्र में बोल रहे थे।

यह भी पढ़े : Horoscope today 25 May 2022: सिंह समेत इन राशि वालों का आज समय बहुत ख़राब, सूर्य भगवान को जल चढ़ाए


अरुणाचल प्रदेश के सीएम पेमा खांडू ने भी दीर्घकालिक लक्ष्य पर तीन प्रकार के बाजारों को विकसित करने पर ध्यान केंद्रित करने का सुझाव दिया - कम दूरी का बाजार, मध्यम दूरी का बाजार और लंबी दूरी का बाजार। खांडू ने कहा कि "छोटी दूरी के बाजार" राज्य में बाजार हैं जिन्हें और मजबूत करने की जरूरत है।

अरुणाचल प्रदेश के सीएम पेमा खांडू ने कहा, "हम पूर्वोत्तर सहित देश के बाकी हिस्सों के साथ व्यापार को मजबूत करके मध्यम दूरी के बाजारों को विकसित करने पर भी काम कर सकते हैं।"

यह भी पढ़े : Love Horoscope 25 may : आज इन राशि वालों की लव लाइफ रहेगी रोमांटिक, इनके रिलेशनशिप होंगे खराब


खांडू ने जीआई (भौगोलिक संकेत) टैग के महत्व पर भी प्रकाश डाला, "जो अंतरराष्ट्रीय बाजार में प्रतिस्पर्धा करते हुए उत्पाद की विशिष्टता और विशिष्ट विशेषता को चित्रित करने के लिए एक शक्तिशाली उपकरण बन गया है"।

अरुणाचली संतरे को जीआई टैग मिला है। हम देश में कीवी के सबसे बड़े उत्पादक हैं और हमने कई अन्य फलों का निर्यात शुरू कर दिया है। राज्य के अनूठे उत्पादों को लोकप्रिय बनाने के लिए हमें ऐसे और स्थानीय उत्पादों की पहचान करने की दिशा में काम करना चाहिए।"