अरुणाचल प्रदेश में आज भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं। रिक्टर स्केल पर भूकंप की तीव्रता 3.5 रही। भूकंप का केंद्र चांगलांग रहा। सुबह 3 बजकर 18 मिनट पर यहां भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं। इससे पहले भी यहां पर भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं। पिछले दिनों दिल्ली-एनसीआर में भूकंप के झटके महसूस किए गए थे। 

दिल्‍ली-एनसीआर में 18 दिसंबर को रात लगभग 11.45 मिनट पर भूकंप के तगड़े झटके महसूस किए गए। इससे लोग डरकर घरों से बाहर निकल आए। रिक्‍टर पैमाने पर भूकंप की तीव्रता 4.2 दर्ज की गई। भूकंप के झटके दिल्ली से लेकर नोएडा गाजियाबाद, गुरुग्राम तक महसूस किए गए। नेशनल सेंटर फॉर सिस्‍मोलॉजी (National Centre for Seismology, NCS) के मुताबिक, भूकंप का केंद्र राजस्‍थान के अलवर जिले में था जिसके झटके दिल्‍ली एनसीआर के इलाकों तक महसूस किए गए। 

दुनिया में यदि भूकंप की बात करें तो गुरुवार को जापान में भी तगड़े झटके महसूस किए गए। समाचार एजेंसी रॉयटर के मुताबिक, जापान में गुरुवार को 4.6 तीव्रता का झटका महसूस किया गया। भूकंप का केंद्र राजधानी टोक्यो के उत्तर में इबाराकी प्रान्त में था। हालांकि कोई सुनामी की चेतावनी जारी नहीं की गई। भूकंप का केंद्र राजधानी टोक्यो के उत्तर में इबाराकी प्रांत में था। इस भूकंप से जानमाल का कोई नुकसान नहीं देखा गया।

क्यों आता है भूकंप?

पृथ्वी की बाह्य परत में अचानक हलचल से उत्पन्न ऊर्जा के परिणाम स्वरूप भूकंप आता है। यह ऊर्जा पृथ्वी की सतह पर, भूकंपी तरंगें उत्पन्न करती है, जो भूमि को हिलाकर या विस्थापित कर के प्रकट होती है।

भूकंप के कारण

भूकंप प्राकृतिक घटना या मानवजनित कारणों से हो सकता है। अक्सर भूकंप भूगर्भीय दोषों के कारण आते हैं। भारी मात्रा में गैस प्रवास, पृथ्वी के भीतर मुख्यत: गहरी मीथेन, ज्वालामुखी, भूस्खलन, और नाभिकीय परिक्षण ऐसे मुख्य दोष हैं।