अरुणाचल प्रदेश के ईटानगर कैपिटल कॉम्प्लेक्स में पिछले 24 घंटों के दौरान भूस्खलन की दो अलग-अलग घटनाओं में दो महिलाओं सहित कम से कम पांच लोगों की मौत हो गयी और तीन अन्य घायल हो गये। पुलिस सूत्रों ने यह जानकारी दी। 

ये भी पढ़ेंः AAPSU चुनाव के लिए नामांकन दाखिल करने पहुंचे छात्रों के समर्थकों के बीच हिंसक झड़प


उन्होंने बताया कि घायलों में दो की हालत गंभीर है। पहली घटना में ईटानगर के डी-सेक्टर में पंजाबी ढाबे के पीछे हुए विनाशकारी भूस्खलन में एक परिवार के तीन सदस्यों की मौत हो गई। पुलिस ने बताया कि भारी बारिश के कारण हुए भूस्खलन ने कच्चे मकान को अपनी चपेट में ले लिया। उस घर में रह रहे नौ सदस्यीय परिवार के तीन सदस्य जिंदा दफन हो गए और दो अन्य गंभीर रूप से घायल हो गए जबकि बच्चों सहित चार अन्य बाल-बाल बच गए। 

ये भी पढ़ेंः 5G मोबाइल नेटवर्क के साथ चीन अरुणाचल में सीमा पार बड़े पैमाने पर बुनियादी ढांचे के निर्माण में लगा : सेना


बचाव दल में शामिल अग्निशमन और आपातकालीन सेवा कर्मियों, शहर पुलिस, राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) तथा राज्य आपदा मोचन बल (एसडीआरएफ) कर्मियों ने मशीनों और स्थानीय लोगों की सहायता से एक नाबालिग लड़के सहित दो लोगों के शव बरामद किए। मृतकों की पहचान तापस राय (15) और नागेन बर्मन (50) के रूप में की गई है। पुलिस ने बताया कि कुसुम राय (35) नामक एक महिला की तलाश अब भी जारी है। सभी घायलों को आरके मिशन अस्पताल में भर्ती कराया गया है। 

उन्होंने कहा कि रुक-रुक कर हो रही बारिश के साथ-साथ ढीली मिट्टी के कारण दुर्घटनास्थल पर बार-बार मिट्टी खिसकने के कारण महिला के तलाशी अभियान में बाधा आ रही है। दूसरी घटना में गंगा-जुल्ली मार्ग पर भूस्खलन और पत्थर गिरने की चपेट में आने से पीडब्ल्यूडी, कैपिटल डिवीजन बी के दो श्रमिकों की मौत हो गई तथा एक अन्य गंभीर रूप से घायल हो गया। थाना प्रभारी ने बताया कि यह दुर्घटना तब हुई जब पीड़ित कीचड़ में फंसे एक दोपहिया वाहन को निकालने की कोशिश कर रहे थे। उन्होंने बताया कि मृतकों की पहचान 50 वर्षीय टेक बहादुर सोनार और 45 वर्षीय ताई याई के रूप में हुई है। उन्होंने बताया कि घायल को यहां आरकेएमएच में भर्ती कराया गया है। इस बीच पुलिस ने बताया कि एनएच -415 के साथ ईटानगर और नाहरलागुन के बीच शिव मंदिर क्षेत्र के पास मोदिरिजो गांव में बारिश के कारण हुए भूस्खलन की चपेट में आकर दो मकान बह गये, हालांकि किसी के हताहत होने की खबर नहीं है। अरुणाचल प्रदेश की राजधानी ईटानगर सहित राज्य के अन्य हिस्सों में लगभग एक सप्ताह से लगातार हो रही भारी बारिश से सामान्य जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। 

इस बीच, ईटानगर कैपिटल कॉम्प्लेक्स जिला प्रशासन ने पिछले कुछ दिनों से हो रही लगातार बारिश को देखते हुए संवेदनशील क्षेत्रों में रहने वाले लोगों से ऐसे क्षेत्रों को खाली करने और सुरक्षित स्थानों या निर्धारित राहत शिविरों में जाने की अपील की है। जिला प्रशासन ने अब तक गवर्नमेंट हायर सेकेंडरी स्कूल, ईएसएस सेक्टर (ईटानगर), गवर्नमेंट मिडिल स्कूल, कंकर नाला (नाहरलागुन) और बंदरदेवा में निकम निया हॉल के सभागार में तीन अस्थायी राहत शिविरों का निर्धारण किया है। इसके अलावा, प्रशासन ने कहा कि किसी भी घटना के मामले में जिला आपातकालीन संचालन केंद्र से किसी भी सहायता के लिए टोल-फ्री नंबर 1077, 878-7336331, 9436415828 पर संपर्क किया जा सकता है।